Monday, June 24, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडहरिद्वार में मानसूनी बारिश के शुरु होते ही लोगों की बढ़ने लगी...

हरिद्वार में मानसूनी बारिश के शुरु होते ही लोगों की बढ़ने लगी समस्याएं

हरिद्वार। मानसून ने अपनी दस्तक दे दी है, मानसूनी बारिश के बीच लोगों की समस्याएं भी बढ़ने लगी है। एक ओर बारिश के चलते लोगों ने राहत भरी सांस ली है, तो दूसरी ओर तेज बारिश से सड़कों पर पानी भर गया है। शहर की आवासीय कॉलोनियों की टूटी सड़कों और पुलिया का पुनर्निर्माण करना तो दूर गड्ढों को तक भरा नहीं गया है। काफी समय पहले खोदकर छोड़ी सड़कें आज तक वैसे ही पड़ी हैं। कनखल में सड़क नहीं बन सकी है। ज्वालापुर में कार्य अधर में लटका है। गर्मियों में लोग टूटी और खोदी गई सड़कों के चलते धूल मिट्टी से गुजरने को मजबूर रहे, अब बारिश में जलभराव और कीचड़ की परेशानी झेलेंगे।

ज्वालापुर में रेलवे फाटक से लेकर शास्त्रीनगर, कड़च्छ तक करीब दो महीने पहले सड़क के पुनर्निर्माण के लिए तोड़ा गया था। कनखल के कृष्णानगर में भूमिगत विद्युत लाइन, गैस लाइन सहित कई कार्यों के लिए सड़क ढाई साल पहले तोड़ दी गई थी। काम पूरा होने के बाद सड़कों का निर्माण तो दूर मरम्मत तक नहीं कराई गई। हल्की सी बारिश होते ही सड़क के गड्ढों में पानी भरता है। नुकीलें पत्थर निकले होने से लोगों को दिक्कतें झेलनी पड़ रही हैं। अधिकारी और जनप्रतिनिधि समस्या से ही मुंह फेरकर बैठ गए।

ज्वालापुर में रेलवे फाटक के पास से शास्त्रीनगर जाने वाली करीब आधा किलोमीटर की सड़क टूटी पड़ी थी। जिस पर रोड़ी बिछाकर छोड़ रखी है। कुछ हिस्से पर सीमेंट की टाइल्स लगाई गई है। लेकिन, आगे का काम शुरू ही नहीं हो पाया। नुकिले पत्थर निकले होने से राहगीरों को परेशानी झेलनी पड़ रही है।

कनखल के कृष्णानगर में टूटी सड़क और जगह-जगह गड्ढे और मिट्टी के कारण चलना भी मुश्किल हो रहा है। ढाई साल पहले तोड़ी गई कॉलोनी की सड़कें आज तक भी नहीं बनाई गई। राजीव नगर कॉलोनी में सड़क में खोदे गए गड्ढे परेशानी खड़ी कर रहे हैं। बरसात में और ज्यादा मुसीबत लोगों को झेलनी पड़ेगी।
अभी तक नहीं हुई सफाई, गंदगी से अटे नाले

ज्वालापुर में बकरा मार्केट के पास नाला निर्माण अब भी अधर में लटका है। नाले की निकासी की व्यवस्था भी नहीं है। कड़च्छ से लेकर बकरा मार्केट तक नाला पूरी तरह गंदगी से अटा है। जबकि हरिद्वार रेलवे स्टेशन के बाहर भी नाले की सफाई नहीं कराई गई। अतिक्रमण के कारण नाला आगे से बंद है। गंदगी से अटा होने से नाला उफनता रहता है। जबकि अन्य नालों की भी तली झाड़ सफाई नहीं हुई।

सड़कें तोड़ तो दी जाती हैं, लेकिन निर्माण करने की तरफ किसी का ध्यान नहीं जाता है। कई महीनों से कड़च्छ जाने वाला मार्ग तोड़कर छोड़ रखा है। जगह-जगह लाइनें टूटने से पानी गड्ढों में भर रहा है। बारिश में और ज्यादा परेशानी खड़ी होगी। बरसात से पहले-पहले सड़क का काम पूरा किया जाना चाहिए था।

अधूरी सड़कों के कारण लोगों को मुसीबतें झेलनी पड़ रही हैं। भूमिगत विद्युत लाइन व अन्य कामों के लिए सड़क तो खोदी गई थी। पर निर्माण करने की तरफ किसी ने ध्यान नहीं दिया। बारिश होते ही टूटी सड़कों पर चलना भी मुश्किल हो जाएगा।

शास्त्रीनगर में सड़क का निर्माण एचआरडीए की ओर से कराया जा रहा है। लोनिवि की ओर से कुछ सड़कें बनाई जानी थी। जिनका काम पूर्व में कराया जा चुका है। बाकी का कार्य अन्य विभागों की ओर से कराया जाना है।

नालों की सफाई के लिए नाला गैंग लगाई है। जिन नालों की सफाई नहीं हुई वहां की सफाई जल्द करवाई जाएगी। नालों की सफाई को लेकर मौका मुआयना भी किया जाएगा।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें