Monday, June 24, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडकुमाऊं के 22 महाविद्यालयों में एबीवीपी का डंका

कुमाऊं के 22 महाविद्यालयों में एबीवीपी का डंका

कुमाऊं विश्वविद्यालय के एमबीपीजी कॉलेज हल्द्वानी में छात्रसंघ चुनाव में अध्यक्ष पद पर अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ;एबीवीपीद्ध के बागी प्रत्याशी रश्मि लमगड़िया विजयी रही। कुमाऊं के सबसे बड़े छात्र संख्या वाले एमबीपीजी कालेज में इस बार इतिहास बना है। टिकट न मिलने पर एबीवीपी से बगावत कर निर्दल मैदान में उतरी रश्मि लमगड़िया ने पहली बार कालेज में महिला अध्यक्ष बनने का गौरव हासिल किया है। उन्होंने अपने निकटम प्रतिद्वंद्वी के एबीवीपी कौशल बिरखानी को रिकार्ड मतों से हराया। एनएसयूआई प्रत्याशी सूरज भट्टð को तीसरे स्थान पर संतोष करना पड़ा। कोरोना के चलते दो साल बाद हुए छात्रसंघ चुनाव में सत्तारूढ़ भाजपा के आनुषांगिक संगठन एबीवीपी का अच्छा प्रदर्शन रहा।कुमाऊं के 50 राजकीय महाविद्यालयों व एक अशासकीय कालेज में चुनाव हुआ। इसमें 22 महाविद्यालयों में एबीवीपी के समर्थित उम्मीदवारों ने विजय हासिल की। 20 महाविद्यालयों ऐसे हैं जहां निर्दल उम्मीदवारों ने बेहतरीन प्रदर्शन कर अध्यक्ष पद पर जीते हैं। कांग्रेस के आनुषांगिक संगठन एनएसयूआइ के केवल आठ कालेजों में ही अध्यक्ष बने। कुमाऊं में छात्रसंख्या के लिहाज से सबसे बड़े एमबीपीजी महाविद्यालय में एबीवीपी के कौशल बिरखानी व निर्दल प्रत्याशी रश्मि लमगड़िया के बीच कांटे का मुकाबला माना जा रहा था, लेकिन रश्मि के आगे एबीवीपी के कौशल को हार का सामना करना पड़ा। कुमाऊं के बड़े कालेजों में रुद्रपुर, बाजपुर, काशीपुर, बागेश्वर, रानीखेत, टनकपुर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ;एबीवीपीद्ध ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। जबकि अल्मोड़ा परिसर में एनएसयूआइ ने जीत हासिल की। नैनीताल के डीएसबी परिसर से लेकर बाकी अन्य कालेजों में निर्दल उम्मीदवारों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। कुमाऊं ये 12 बड़े कालेजों में एमबीपीजी कालेज में निर्दल रश्मि लमगड़िया, डीएसबी परिसर नैनीताल में निर्दल शुभम बिष्ट, रुद्रपुर में एबीवीपी के गौतम पपनेजा, काशीपुर में एबीवीपी के गुरकीरत सिंह, खटीमा में निर्दल अरविंद,बाजपुर में एबीवीपी के दीपक, अल्मोड़ा विश्वविद्यालय परिसर में एनएसयूआइ के पंकज कार्की, रानीखेत में एबीवीपी के राहुल बिष्ट, बागेश्वर में एबीवीपी के आशीष कुमार,चम्पावत में निर्दली मनीष महर,टनकपुर महाविद्यालय में एबीवीपी के राजेंद्र सिंह,पिथौरागढ़ में एबीवीपी के रितिक पांडे विजयी रहे। नैनीताल जिले में इस बार एबीवीपी और एनएसयूआइ जैसे संगठनों को निर्दल प्रत्याशियों ने धूल चटाई है। कुमाऊं के सबसे बड़े एमबीपीजी कालेज में एबीवीपी से बगावत कर निर्दल मैदान में दम ठोकने वाली रश्मि लमगड़िया ने अपने निकटतम प्रतिद्वंद्वी एबीवीपी प्रत्याशी कौशल बिरखानी को हरा दिया। जिले के 10 कालेजों में से छह पर निर्दलियों ने बाजी मारी है, जबकि तीन पर एबीवीपी और एक पर एनएसयूआइ ने सफलता हासिल की है। रूद्रपुर। शहीद भगत सिंह महाविद्यालय में अध्यक्ष पद पर आखिरकार कड़े मुकाबले के बीच एबीवीपी के गौतम पपनेजा ने अपने प्रतिद्वं(ी मानवेन्द्र सिंह को 135 मतों से पराजित किया। सचिव को छोड़कर छात्र संघ के 9 पदों के लिए शनिवार दोपहर दो बजे तक गहमा गहमी के बीच मतदान हुआ। कुल 50.62 प्रतिशत मतदान हुआ। दोपहर बाद मतगणना शुरू हुई। जो देर शाम तक चली। देर शाम परिणाम घोषित हुए जिसमें अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का परचम लहराया। अध्यक्ष पद पर शुरू के पहले राउण्ड में एबीवीपी प्रतयाशी गौतम पपनेजा से मानवेन्द्र सिंह करीब दस वोटों से आगे चल रहे थे। वह पिछड़ गये। अध्यक्ष पद पर गौतम पपनेजा ने 135 मतों से अपने प्रतिद्वं(ी मानवेन्द्र सिंह को पराजित कर दिया। गौतम को 1583 और मानवेंद्र को 1448 मत मिले। छात्र संघ उपाध्यक्ष पद पर आकाश कुमार और दीपक सिंह के बीच सीधा मुकाबला था। आकाश ने दीपक को 240 वोटों से पराजित किया। आकाश को 1782 और दीपक को 1542 वोट मिले। उपाध्यक्ष छात्रा पद पर केशु दास ने दिव्या चौहान को 563 वोटों से हराया। केशु दास को 1900 और दिव्या को 1337 मत मिले। कोषाध्यक्ष पद पर कुनाल गोस्वामी ने अश्वनी को 386 वोटों से पराजित किया। कुनाल को 1866 और अश्वनी को 1480 वोट मिले। उपसचिव पद पर गौरव शुक्ला ने बॉबी गुप्ता को 597 मतों से हराया। गौरव को 1957 और बॉबी को 1360 वोट मिले। सांस्कृतिक सचिव पद पर दीपक भट्ट ने ब्रहमपाल को ब्रहमपाल को 1710 मतों के अंतर से पराजित किया। जबकि विश्वविद्यालय प्रतिनिधि पद पर हिमांशु सिंह ने पवन कुमार गंगवार को 61 मतों से हराया। कला संकाय प्रतिनिधि पद पर अभिषेक कुमार ने रंजीत सिंह को 1032 वोटों से हराया। विज्ञान संकाय प्रतिनिधि पद पर धीरज गंगवार ने सागर को 74 मतों से शिकस्त दी। जबकि वाणिज्यिक संकाय प्रतिनिधि पद पर मनीष शर्मा ने एकमात्र पर्चा भरा था जिसके चलते उनका निर्विरोध निर्वाचन हुआ। सचिव पद पर मयंक माटा का पर्चा अवैध घोषित होने के कारण रोहित चन्द्र भट्ट भी निर्विरोध निर्वाचित हुए। परिणाम घोषित होने के बाद प्राचार्य प्रो. कमल किशोर पांडेय ने सभी नवनिर्वाचित पदाधिकारियों को शपथ दिलाई।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें