Sunday, July 14, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeअन्यमसूरी सुनील हत्याकांड| परिजनों ने मसूरी पुलिस पर बच्चों को प्रताड़ित करने...

मसूरी सुनील हत्याकांड| परिजनों ने मसूरी पुलिस पर बच्चों को प्रताड़ित करने का लगाया आरोप, एसएसपी को मसूरी पुलिस पर कार्यवाही करने की करी मांग



भारत संवैधानिक अधिकार संरक्षण मंच के द्वारा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून को ज्ञापन देकर मसूरी में सुनील हत्याकांड पर कोतवाली मसूरी पुलिस द्वारा नाबालिग की बेरहमी से पिटाई करने के सम्बन्ध में शिकायत की है व मसूरी पुलिस के खिलाफ कार्यवाही की मांग की है।

दौलत कुंवर ने बताया कि कुछ दिन पूर्व सुनील पुत्र सन्तराम निवासी जखनोग लखवाड़ तहसील कालसी, देहरादून हाल निवासी मसूरी जार्ज एवरेस्ट की गला रेतकर हत्या की गयी थी, जिसका पोस्टमार्टम के बाद अन्तिम संस्कार दो दिन पहले यमुनापुल पर किया गया था. पूरा परिवार शोकाकुल है और मसूरी कोतवाली पुलिस ने पीड़ित परिवार के बच्चों को मसूरी कोतवाली बुला लिया, जिसमें कि एक बच्चा नाबालिग है।

दौलत कुँवर

सुबह से लेकर रात्रि 3 बजे तक पुलिस द्वारा कई बार नाबालिग लड़का नितिन पुत्र सुदरू व संजय पुत्र लुदरू निवासी ग्राम जखनोग को थर्ड डिग्री देकर सुनील की हत्या करने के जुर्म में जबरन कबूल करवाना चाह रही थी.

जिसके लिए इनको बुरी तरीके से मारा गया, जिसकी पुष्टि मेडिकल द्वारा उच्च स्तरीय जाँच डॉक्टरों द्वारा की गयी है। पीड़ित सन्तराम पूर्व प्रधान को सुबह से लेकर रात्रि 10 बजे तक दोनों बच्चों से मिलने नहीं दिया । उन्होने कहा कि उनके द्वारा अपने साथियों के साथ रात्रि 2 बजे लखवाड़ क्षेत्र के 04 गांवों के ग्रामीण मसूरी कोतवाली पहुचे। उन्होने बताया कि उनके द्वारा कोतवाल मसूरी से दोनो बच्चों को छोडने का आग्रह किया गया जिसके बाद कोतवाल ने दोनो बच्चों को उनके हवाले कर दिया । उन्होने बताया दोनों बच्चों ने अपनी आपबीती बताई जिसमें उनके द्वारा पुलिस द्वारा उनको थर्ड डिग्री देने के साथ प्रताड़ित करने की बात बताया गया जिसके बाद दोनों बच्चों को उपजिला चिकित्सालय मसूरी ले जाकर मेडिकल करवाया गया, जिसमें कई जगह चोटों के गम्भीर निशान पाये गये। उन्होने एसएसपी देहरादून से मसूरी कोतवाली के समस्त कर्मचारियों को बर्खास्त किये जाने के साथ शीघ्र सुनील हत्याकांड का खुलासा कर दोषियों को जेल भेजा जाए। उन्होने कहा कि अगर जल्द सुनील हत्याकांड और बच्चों पर पुलिस द्वारा की गई मारपीट पर कार्यवाही नही की गई तो मंच के सदस्यों पीड़ितों के साथ एसएसपी कार्यालय देहरादून के बाहर अनिश्चितकालीन धरने पा बैठने के लिये मजबूर होना पड़ेगा। और अगर उस दौरान हमारे किसी भी साथी के साथ कोई भी अप्रिय घटना घटित तो उसकी सम्पूर्ण जिम्मेदारी आपकी तथा शासन-प्रशासन की होगी। इस मौके पर स्वराज चौहान निर्दलीय विधायक प्रत्याशी विधानसभा विकास नगर और दौलत कुवर निर्दलीय विधायक प्रत्याशी चकराता विधानसभा के साथ सुनील के परिजन और ग्रामीण मौजूद थे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें