Thursday, April 18, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeशिक्षाब्रेकिंग: उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील योजना के लिए...

ब्रेकिंग: उत्तराखंड के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील योजना के लिए जारी हुआ नया आदेश

स्कूलों में लागू करने के लिए प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पीएम पोषण) योजना के लिए एक नया आदेश जारी किया गया है।

उपरोक्त विषयक, राज्य परियोजना निदेशक, समग्र शिक्षा, उत्तराखण्ड, देहरादून के पत्रांक पी०एम०पोषण / 775/ एम0डी0एम0 / 38 (2021)/2021-22 दिनांक 07 फरवरी, 2022 द्वारा विद्यालयों में अध्ययनरत् कक्षा 1 से 8 तक के छात्र-छात्राओं के पोषण स्तर के सुधार हेतु विद्यालय स्तर पर प्रदेश में प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पी०एम० पोषण) योजनान्तर्गत पका- पकाया भोजन उपलब्ध कराये जाने के सम्बन्ध में उपलब्ध कराये गये प्रस्ताव के अनुक्रम में सम्यक् विधारोपरान्त मुझे यह कहने का निदेश हुआ है कि प्रदेश में प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पी०एम० पोषण) योजनान्तर्गत आच्छादित विद्यालयों में निर्धारित कोविड-19 के प्रोटोकोल के अनुरूप प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पी०एम० पोषण) योजना संचालित किये जाने की अनुमति निम्नलिखित शतों / प्रतिबन्धों के अधीन प्रदान की जाती है

1. योजना का संचालन कोविड-19 प्रोटोकॉल, सरकार द्वारा समय-समय पर प्रकाशित मानक संचालन प्रक्रिया (एसओपी) और सरकारी निर्देशों सहित अन्य बातों के अनुसार किया जाएगा।

2. भोजनमाताओं या उनके परिवार के सदस्यों के कोविड-19 से संक्रमित न होने / उनके उचित स्वास्थ्य संबंधी स्वंय की घोषणा पत्र प्राप्त किया जायें भोजनमाताओं को विद्यालय में प्रवेश करते हुए हाथो को सैनिटाईज कराने व अच्छी तरह से घुलवाने के उपरान्त प्रवेश दिया जायें। सभी भोजनमाताओं को रसोईघर में मास्क पहनना अनिवार्य होगा और रसोई में किसी भी प्रकार के आभूषणों को पहनने की अनुमति नहीं होगी RMU

3. प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पी०एम० पोषण) योजनान्तर्गत समस्त भोजनमाताओं को कैम्प अथवा समीप के स्वास्थ्य केन्द्रो पर कोविड-19 टीकाकरण लगवाये जाने हेतु निर्देशित किया जाये। से

4. रसोईघर में प्रयोग किये जाने वाले बर्तनों तथा खाद्यान्न / भोज्य पदार्थों को इस्तेमाल करने पूर्व अच्छी तरह से साफ किया जायेगा।

5. भोजन वितरण से पूर्व बच्चों को पक्तिबद्ध रूप से निर्धारित दूरी का अन्तराल रखते हुए उनके हाथो को साबुन से धुलवाया जायेगा तथा पूर्व निर्धारित स्थान पर उचित दूरी के अनुसार बच्चों को पक्तिबद्ध रूप से बैठाकर भोजन परोसा जायेगा बच्चों को हाथ धुलवाने के बाद उन्हें किसी कपड़े में पोछने के बजाय हवा में सुखाने के लिए प्रेरित किया जायेगा। भोजन के उपरान्त बच्चों द्वारा पुनः मास्क लगा लिया जायेगा।

6. प्रधानमंत्री पोषण शक्ति निर्माण (पी०एम० पोषण) योजनान्तर्गत भोजन के पूर्व एवं पश्चात हाथ धुलने के समय भी 06 फीट की दूरी का अनुपालन सुनिश्चित किया जायें।

7. भोजन पकाने की प्रक्रिया में एकत्रित कूड़े को ढक्कनदार डस्टबिन में डाला जाय, पानी • निकासी की भी सुदृढ व्यवस्था की जायें, किसी भी स्थिति में पानी एकत्रित नहीं होने दिया जाय। धोये गये बर्तनों को धूप में सुखाकर रसोईघर में ही रखा जायें। भोजन पकाने में इस्तेमाल किये गये कपड़े, एप्रन, हैडकवर, पोछा आदि को भी साबुन से धोकर धूप में सुखा जायें।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें