Monday, April 15, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडअल्मोड़ा के दो युवाओं ने दिल्ली तक शुरू की पैदल यात्रा, पर्यावरण...

अल्मोड़ा के दो युवाओं ने दिल्ली तक शुरू की पैदल यात्रा, पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक करना लक्ष्य

पहाड़ी प्रदेश उत्तराखंड के अल्मोड़ा जनपद के दो युवा अल्मोड़ा से लेकर राजधानी दिल्ली तक का सफर पैदल तय करके पर्यावरण संरक्षण का संदेश देते हुए जा रहे हैं। ये युवा पर्यावरण प्रेमी है और लगातार वन संपदा को पहुँच रहे नुकसान से काफी दुखी हैं। जिसके बाद ये अल्मोड़ा जनपद की चोखटिया तहसील से पैदल यात्रा पर निकल कर देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद को पहाड़ों में हो रही वनसंपदा के नुकसान का ज्ञापन देगे। पर्यावरण प्रेमी शंकर सिंह बिष्ट ने बताया कि जिस तरह से हर वर्ष लगातार वन संपदा को आग के कारण नुकसान पहुंच रहा है। जिससे वन्यजीवों के साथ-साथ मानव को भी इसका नुकसान उठाना पड़ रहा है जिससे वे बहुत दुखी हैं। जिसके मद्देनजर उन्होंने अपने चचेरे भाई प्रमोद सिंह बिष्ट के साथ पैदल यात्रा तय करने का निर्णय लिया और यह अपनी पैदल यात्रा चौखटिया तहसील से दिल्ली के लिए शुरू कर दी है। शंकर ने बताया कि वे पैदल पथ यात्रा के माध्यम से लोगों को जागरूक करते हुए जा रहे हैं जिससे लोगों को पर्यावरण संरक्षण के प्रति जागरूक किया जा सके। उन्होंने बताया कि वे चौखटिया से नई दिल्ली राष्ट्रपति भवन तक पैदल यात्रा करके पहुंचेंगे और राष्ट्रपति से मिलकर उन्हें अपनी समस्या से अवगत कराएंगे। इस दौरान वे पैदल चलकर लोगों को भी जागरूक भी कर रहे है। वही शंकर के साथ चल रहे उनके चचेरे भाई प्रमोद सिंह बिष्ठ ने कहा कि जिस तरह से हर वर्ष पहाड़ों में आगजनी की घटनाएं बढ़ती जा रही है इसे वन संपदा के साथ-साथ पशु और मानव को भी लगातार नुकसान पहुंच रहा है। उन्होंने कहा कि जिस तरह से पहाड़ों में लगातार पानी के स्रोत कम होते जा रहे हैं। जिससे चिंतित होकर दोनों चचेरे भाइयों ने पैदल यात्रा कर महामहिम राष्ट्रपति से मिलने का निर्णय किया।

वाकई में इन दोनों चचेरे भाई की यह पहल काबिले तारीफ है अगर आम जनता उनके इस प्रयास से थोड़ा भी जागरूक होती है तो आने वाले समय में हम अपने पर्यावरण को संरक्षित करने में कामयाब हो पाएंगे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें