Wednesday, April 17, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडपौड़ी जिले के दौरे पर सीएम धामी ने 'क्यों होता है गांव...

पौड़ी जिले के दौरे पर सीएम धामी ने ‘क्यों होता है गांव से पलायन’ विषय पर छात्रों से किया संवाद

सूबे के पहाड़ी से लगातार होता पलायन एक बड़ी समस्या है। पलायन को लेकर राज्य सरकार भी कई बार अपनी चिंता जाहिर कर चुकी हैं। सोमवार को पौड़ी में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने ‘क्यों होता है गांव से पलायन’ विषय पर संवाद भी किया।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी पौड़ी जिले के दौरे पर हैं। पौड़ी के एक गांव में जहां सीएम पुष्कर सिंह धामी ने होम स्टे में रात बिताया तो वहीं सुबह को गांव का भ्रमण भी किया। इसके अलावा पौड़ी के विकास भवन में मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने एनसीसी कैडेट्स एवं अन्य प्रतिभाशाली स्कूली छात्र-छात्राओं के साथ ‘क्यों होता है गांव से पलायन’ विषय पर संवाद भी किया। इस मौके पर मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने मेधावी छात्र-छात्राओं को सम्मानित भी किया। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने अपने संबोधन में पहाड़ों से हो रहे पलायन पर चिंता भी जताई। मुख्यमंत्री धामी ने कहा कि उत्तराखंड के लिए पलायन एक बड़ी चिंता का विषय है। पहाड़ों में लगातार पलायन हो रहा है. कई गांव का खाली होना राज्य और देश की सुरक्षा के लिए खतरा भी है। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार रिवर्स माइग्रेशन पर कार्य कर रही है। केंद्र और राज्य सरकार की विभिन्न योजनाओं से लोगों को रोजगार एवं स्वरोजगार प्रदान कर गांव में रोकने का कार्य किया जा रहा है. कोरोना काल में लाखों प्रवासी अपने गांव आए और कई युवाओं ने स्वरोजगार को अपनाया। आज वही युवा कई अन्य लोगों को भी रोजगार देने का कार्य कर रहे हैं। सरकार और जनता के बीच आपसी समन्वय और सहभागिता से पलायन रुकेगा। राज्य में पलायन को रोकने के लिए पलायन आयोग अध्ययन कर रहा है। होम स्टे करेगा पलायन पर वार: मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि लोगों का रुझान लगातार होम स्टे की ओर बढ़ रहा है। राज्य सरकार होम स्टे को लगातार बढ़ावा देने का कार्य कर रही है। विभिन्न योजनाओं के अंतर्गत स्वयं सहायता समूह को ऋण वितरित किया जा रहा है। आज महिलाएं भी आत्मनिर्भर बन गांव से पलायन रोकने में अपनी अहम भूमिका निभा रही है। हमारा राज्य संभावनाओं से भरा हुआ है। इन संभावनाओं को हम प्रयास और परिश्रम से खोज सकते हैं, जिससे पलायन रुकेगा और लोगों को आर्थिक फायदा भी होगा। उन्होंने कहा हमारे युवा वर्ग को सरकार की तरफ से चलाई जा रही विभिन्न जन कल्याणकारी योजनाओं से अवगत होना चाहिए। उन्होंने जिला अधिकारी को निर्देश देते हुए कहा कि जिले में युवाओं को सरकारी योजनाओं के प्रति जागरूक करने के लिए विशेष कैंप का आयोजन किया जाए।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि एनसीसी से युवाओं को सेना के जैसा अनुशासन व साहस सीखने को मिलता है। एनसीसी कैडेट्स हर मोर्चे पर तन मन से खड़े रहते हैं। देश के अंदर आने वाले हर संकट में एनसीसी हमेशा तत्परता से कार्य करती है। उन्होंने कहा जीवन में शिक्षा प्राप्त करने का समय अमूल्य होता है. विद्यार्थी काल में पूरे मनोयोग से कार्य करना चाहिए। यदि संकल्प लेकर आगे बढ़ा जाए तो सपने जरूर साकार होते हैं। मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में देश निरंतर आगे बढ़ रहा है। आज देश का मान सम्मान स्वाभिमान पूरे विश्व में बड़ा है। प्रधानमंत्री मोदी के नेतृत्व में हमें जी-20 की अध्यक्षता करने का मौका मिला है। हम सभी उत्तराखंडवासियों के लिए गौरव की बात है कि हमारे प्रदेश में जी-20 की दो बैठकें आयोजित होने वाली हैं। जी-20 देशों के साथ अन्य देश एवं अंतरराष्ट्रीय संगठन भी भारत आ रहे हैं। उन्होंने कहा राज्य सरकार विकल्प रहित संकल्प के पुनीत वाक्य के साथ उत्तराखंड को सर्वश्रेष्ठ राज्य बनाने की ओर आगे बढ़ रही है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें