Wednesday, April 17, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडचमोली के जोशीमठ में नहीं थम रहा दरारें आने का सिलसिला! 5...

चमोली के जोशीमठ में नहीं थम रहा दरारें आने का सिलसिला! 5 नए घरों में फिर आए क्रैक

जोशीमठ में भू धंसाव से लगातार हालात खराब होते जा रहे हैं। पुराने घरों में दरार बढ़ने के साथ ही कुछ नए घरों में भी दरारें आई हैं। इससे लोग खौफजदा हैं. चमोली के डीएम हिमांशु खुराना ने तत्काल पहुंचकर घरों का निरीक्षण कर अधिकारियों को निर्देशित किया।

चमोली के जोशीमठ में भू धंसाव रुकने का नाम नही ले रहा है जोशीमठ में लोगों के घरों पर पुरानी दरारों का आकार बढ़ने के साथ साथ कई नए घरों में दरारें आने का सिलसिला जारी है। हर दिन बढ़ रही दरारों से जोशीमठ नगर के लोग बेहद खौफजदा हैं. मनोहर बाग वार्ड और सिंहधार के घरों में बीते दिनों जो दरारें आई थी वह दरारें एक बार फिर चौड़ी हो रही हैं. इससे लोगों में डर का माहौल है। सिंहधार में भी लोगों के घरों में दरारें बढ़ने का सिलसिला जारी है। भू धंसाव की मार लोगों के घरों पर ही नहीं बल्कि अब प्राकृतिक संसाधनों पर भी पड़ने लगी है। जोशीमठ के सिंहधार वार्ड में बीते कई सालों से बहने वाले धारे का पानी एकाएक सूखने से भी लोग चिंतित हैं। जोशीमठ में प्रसाशन के द्वारा जिन घरों को रहने के लिये असुरक्षित बताया गया था, उन घरों में एक बार फिर दरारों का आकार बढ़ने और कुछ नए घरों में भी दरारें आने पर चमोली के डीएम हिमांशु खुराना ने उन इलाकों का दौरा किया। डीएम हिमांशु खुराना ने बताया कि जोशीमठ में जिन घरों में क्रैकोमीटर लगाये गए थे, उससे ज्ञात हुआ कि पुरानी दरारों का आकार बढ़ा है। साथ ही 5 नए घरों में हल्की दरारें आई हैं। लेकिन मारवाड़ी में जल रिसाव पहले से काफी कम हो गया है। बीते दिनों प्रशासन के दावों के मुताबिक जोशीमठ नगर में आ रही दरारें थम चुकी थी। लेकिन जोशीमठ में लगातार बढ़ रही दरारों ने जोशीमठ नगर के लोगों को एक बार फिर चिंता में डाल दिया है। दूसरी तरफ प्रभावितों के अस्थायी पुनर्वास के लिये प्रशासन की तरफ से जोशीमठ स्थित उद्यान विभाग की भूमि पर प्री फैब्रिकेटेड मॉडल हट तैयार किए जा रहे हैं। साथ ही ढाक गांव में भी प्रभावितों के लिए हट तैयार किए जा रहे हैं।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें