Saturday, March 2, 2024
No menu items!
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeउत्तराखंडनैनीताल में राज्य कर विभाग की बड़ी कार्रवाई! 27 होटल रिसोर्ट पर...

नैनीताल में राज्य कर विभाग की बड़ी कार्रवाई! 27 होटल रिसोर्ट पर की छापेमारी

प्रदेश में लंबे समय से होटल एवं रिसोर्ट के जीएसटी चोरी के मामले पर राज्य कर विभाग (जीएसटी) टीम ने जिले में कई जगह छापेमारी की। राज्य कर विभाग की छापेमारी से होटल एवं रिसोर्ट संचालकों में दिन भर खलबली मची रही। इस दौरान टीम ने कई प्रतिष्ठानों में अनियमितता मिलने पर जुर्माना भी वसूला।

जीएसटी जमा नहीं करने की शिकायत पर राज्य कर विभाग (जीएसटी) टीम ने नैनीताल जिले में बड़ी कार्रवाई की। टीम ने जिले के कई होटलों, रिसोर्ट के खिलाफ जीएसटी चोरी के खिलाफ कार्रवाई की है। यही नहीं टीम ने मौके पर कई प्रतिष्ठानों से ₹6 लाख का जुर्माना भी वसूला है। जबकि होटल, रिसोर्ट संचालक बीते सालों में कोरोना की वजह से व्यापार प्रभावित होने की दलील दे रहे हैं। जानकारी के अनुसार राज्य कर विभाग की टीम ने नैनीताल जिले के नैनीताल, भीमताल, सातताल, नौकुचियाताल, भवाली, धारी, मुक्तेश्वर क्षेत्र के होटल और रिसोर्ट के खिलाफ कार्रवाई की। जहां इनके द्वारा लगातार जीरो रिटर्न दाखिल करने की शिकायत मिल रही थी। इस पर 27 होटल और रिसोर्ट में छापा मारकर दस्तावेज जब्त किए गए हैं। जीएसटी कुमाऊं के अपर आयुक्त बीएस नगन्याल और संयुक्त आयुक्त पीएस डुंगरियाल के निर्देशन में विभाग की 13 टीमों ने बीते दिन जिले के अलग-अलग क्षेत्रों में पहुंच होटल रिसोर्ट के खिलाफ कार्रवाई की. टीम में कुमाऊं जोन के उपायुक्त, सहायक आयुक्त एवं राज कर अधिकारी स्तर के 30 अधिकारी शामिल रहे। टीम ने होटल एवं रिसोर्ट के दस्तावेज जांचे इन सभी प्रतिष्ठानों के जीरो रिटर्न दाखिल करने, टैक्स जमा न करने और बीते साल के सापेक्ष कम टैक्स जमा करने जैसे मामलों की जांच की गई। टीमों ने इन प्रतिष्ठानों के महत्वपूर्ण दस्तावेज जब्त किए हैं। जिसके बाद दस्तावेज की विभागीय टीम द्वारा अब विस्तृत जांच की जाएगी. यदि अभिलेखों में अनियमितता पाई जाती है कानूनी कार्रवाई की जाएगी। अधिकारियों का कहना है कि अभी बहुत से प्रतिष्ठान हैं जो जीरो रिटर्न दाखिल कर रहे हैं. उनके खिलाफ भी अब अभियान चलाया जाएगा। जीएसटी विभाग की इस कार्रवाई के बाद से होटल और रिसोर्ट कर्मियों में हड़कंप मचा हुआ है। बहुत से व्यापारी 3 सालों से कोविड-19 का हवाला देते हुए अपने कारोबार ना होने का हवाला देते रहे। लेकिन जीएसटी विभाग ने व्यापारियों के दस्तावेज जब्त कर हल्द्वानी कार्यालय लाकर जांच शुरू कर दी है।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें