Tuesday, May 28, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeराजनीतिउत्तराखंड बेरोजगार संघ के अध्यक्ष और उनके साथियों को जब तक नही...

उत्तराखंड बेरोजगार संघ के अध्यक्ष और उनके साथियों को जब तक नही छोड़ेगी पुलिस तब तक जारी रहेगा विरोध प्रदर्शन जारी: कांग्रेस

देहरादून/रुद्रपुर: बीती 9 फरवरी को देहरादून में पुलिस ने बेरोजगार युवाओं पर जो लाठीचार्ज किया था, उसके विरोध में कांग्रेस का धरना प्रदर्शन जारी है. कांग्रेस का साफ कहना कि जब तक उत्तराखंड बेरोजगार संघ के अध्यक्ष और उनके साथियों को पुलिस नहीं छोड़ती, उनका विरोध-प्रदर्शन जारी रहेगा. सोमवार को भी देहरादून में एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने सचिवालय कूच किया, लेकिन पुलिस ने उन्हें पहले ही बैरिकेड लगाकर रोक दिया.इस दौरान एनएसयूआई के कार्यकर्ताओं ने बैरिकेड पर चढ़कर आगे जाने का प्रयास किया, लेकिन इसमें वो कामयाब नहीं हो पाए. इस दौरान उनकी पुलिस के तीखी बहस भी हुई. वहीं, इसी मामले को लेकर एनएसयूआई के राष्ट्रीय अध्यक्ष नीरज कुंदन भी कांग्रेस भवन पहुंच गए थे, जहां उन्होंने बीजेपी सरकार पर जमकर हमला बोला.

करण माहरा का आरोप है कि जो युवा जायजा मांगों को लेकर शांतिपूर्ण प्रदर्शन कर रहे हैं, ये सरकार उन्हें जेल में डाल रही है. बीते रोज रविवार को हुई पटवारी लेखपाल भर्ती परीक्षा का जिक्र करते हुए करण माहरा ने कहा कि पुरोला के एक युवक ने पेपर की सील टूटने की शिकायत प्रशासन से कि तो उसके बाद शाम तक युवक पर शिकायत वापस लिए जाने का दबाव बनाया जाता रहा, लेकिन जब युवक ने शिकायत वापस नहीं ली तो उसी पर नकल विरोधी कानून के तहत मुकदमा दर्ज कर दिया गया.

उन्होंने कहा कि कांग्रेस लगातार पेपर लीक मामलों की सीबीआई और सिटिंग जज की देखरेख में जांच की मांग उठा रही है, लेकिन अहंकारी और दमनकारी सरकार कुछ भी मानने को तैयार नहीं हैं. ऐसे में कांग्रेस के पास प्रदर्शन करने के सिवाय और कोई चारा नहीं बचा है. ताकि जनता बेरोजगारों के साथ सरकार की ओर से किए गए अन्याय को समझ सके. वहीं इस दौरान पुलिस ने गणेश गोदियाल और करण माहरा को हिरासत में भी ले लिया था.रुद्रपुर में भी हुआ विरोध प्रदर्शन: वहीं, रुद्रपुर में भी नेता प्रतिपक्ष यशपाल आर्य के नेतृत्व में कांग्रेसियों ने विरोध प्रदर्शन किया. इस दौरान उन्होंने भी सरकार पर जमकर हमला बोला. यशपाल आर्य ने सरकार की मांग है कि जेल भेज गए युवाओं को जल्द से जल्द छोड़ा जाए. साथ ही भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच की जांए. यदि सरकार ऐसा नहीं करती है तो इस आंदोलन का और तेज किया जाएगा.

यशपाल आर्य ने कहा कि आज प्रदेश का युवा न्याय के लिए सड़कों पर हैं, ये लड़ाई और आगे जाने वाली है. प्रदेश की सरकार निरंकुश हो चुकी है. संवैधानिक संस्थाओं के पेपर लीक हो रहे हैं. पूर्व में कांग्रेस विधायक सदन में भर्ती घोटालो की सीबीआई जांच की मांग कर चुके हैं. प्रदेश के युवा पेपर लीक मामले में सीबीआई जांच की मांग कर रहे हैं, तो उन पर मुकदमे लादे जा रहे हैं.

वहीं, इसी मामले को लेकर ऋषिकेश में कांग्रेस महानगर अध्यक्ष राकेश सिंह ने प्रेस वार्ता की. उन्होंने ने भी सरकार पर जमकर निशाना साधा. राकेश सिंह ने कहा कि बेरोजगार संघ के आंदोलन को भटकाने का काम बीजेपी के लोगों ने किया और उन्हीं के लोगों ने पुलिस पर पथराव किया है. उन्होंने भी सरकार से मांग की है कि भर्ती घोटालों की सीबीआई जांच कराई जाए, तभी बेरोजगार नौजवानों के साथ न्याय नहीं हो पायेगा.

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें