Wednesday, April 17, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeअपराधआईटीबीपी के हेड कांस्टेबल ने की आत्महत्या की कोशिश! मुकदमा दर्ज

आईटीबीपी के हेड कांस्टेबल ने की आत्महत्या की कोशिश! मुकदमा दर्ज

देहरादून में आईटीबीपी के हेड कांस्टेबल ने आत्महत्या की कोशिश की है। हेड कांस्टेबल को अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उसकी हालत स्थिर बताई जा रही है। पुलिस ने आत्महत्या की कोशिश का मुकदमा दर्ज किया है।

देहरादून थाना वसंत विहार क्षेत्र के अंतर्गत 23 वीं बटालियन आईटीबीपी सीमाद्वार में तैनात हेड कांस्टेबल ने आत्महत्या की कोशिश की। आत्महत्या की कोशिश का कारण पारिवारिक क्लेश बताया जा रहा है। सिपाही की रायफल कब्जे में ले ली गई है. हेड कांस्टेबल के सहकर्मियों ने आनन फानन में एंबुलेंस के जरिए उसे अस्पताल पहुंचाया। अस्पताल में हेड कांस्टेबल का इलाज चल रहा है। पुलिस द्वारा घायल हेड कांस्टेबल के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया गया है। घटना के संबंध में अग्रिम कार्रवाई जारी है। वही विपिन मिश्रा उप सेनानी जीडी 23 वीं बटालियन आईटीबीपी सीमाद्वार देहरादून द्वारा थाना वसंत विहार में शिकायत दर्ज कराई गई कि 23 वीं बटालियन आईटीबीपी के हेड कांस्टेबल सिद्धिराम गौड़ कैंप परिसर में जिम गार्ड ड्यूटी में अपनी इंसास राइफल के साथ ड्यूटी कर रहा था। सिद्धिराम गौड़ ने आत्महत्या की कोशिश की है। जानकारी मिलते ही उसको तत्काल महंत इंद्रेश अस्पताल में उपचार के लिए भर्ती कराया गया।थाना वसंत विहार प्रभारी होशियार सिंह ने बताया की 23 वीं बटालियन आईटीबीपी के उप सेनानी विपिन मिश्रा द्वारा सूचना देने के बाद पुलिस ने अस्पताल में पहुंच कर जानकारी जुटाई। पूछताछ में पता चला कि हेड कांस्टेबल ने परिवारिक क्लेश के चलते आत्महत्या का प्रयास किया। हेड कांस्टेबल के कंधे में गोली लगी है। इसलिए स्थिति सामान्य है। अस्पताल में उसका इलाज चल रहा है। साथ ही सिद्धराम गौड़ के खिलाफ धारा 309 आईपीसी का मुकदमा पंजीकृत किया गया है। पुलिस द्वारा घटना के संबंध में अग्रिम कार्रवाई जारी है। आपको बता दे ITBP के जवान की आत्महत्या और तनाव का ये कोई पहला मामला नहीं है. इससे पहले 16 जुलाई 2022 को जम्मू कश्मीर राज्य के उधमपुर में आईटीबीपी के सिपाही ने अपने तीन साथियों को गोली मार दी थी. इसके बाद उसने आत्महत्या कर ली थी. इस मामले में कोर्ट ऑफ इंक्वायरी के आदेश तक हुए थे.20 फरवरी 2022 को दिल्ली में चाणक्यपुरी स्थित नेहरू तारामंडल में तैनात आईटीबीपी के जवान ने आत्महत्या कर ली थी. इस सिपाही के पास एके-47 थी। इस जवान ने गृह कलह से तंग आकर आत्मघाती कदम उठाने का जिक्र अपने सुसाइड नोट में किया था। योगेश्वर रेड्डी नाम का आईटीबीपी का ये जवान कर्नाटक का रहने वाला था। कोविड काल के दौरान भी आईटीबीपी जवान की आत्महत्या का मामला सामने आया था। दिल्ली में करोलबाग थाने में आईटीबीपी के जवान ने आत्महत्या कर ली थी। संदीप कुमार नाम का ये जवान उत्तर प्रदेश के गोरखपुर का रहने वाला था। ये घटना 26 जून 2020 को हुई थी।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें