Wednesday, February 21, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeउत्तराखंडपीडि़ता और नवजात की मौत को लेकर ग्रामीणों का धरना-प्रदर्शन

पीडि़ता और नवजात की मौत को लेकर ग्रामीणों का धरना-प्रदर्शन

नैनीताल जिले के ओखलकांडा के ग्राम डालकन्या में बीते दिनों हुई प्रसव के दौरान पीडि़ता और नवजात की मौत पर परिजन और गांव वालों रोष व्याप्त है घटना की जांच एवं पीडि़त परिवार को आर्थिक सहायता प्रदान करने को लेकर गुरूवार को पूर्व दर्जा राज्य मंत्री हरीश पनेरु के नेतृत्व में ग्रामीणों ने स्वास्थ्य निदेशक स्वास्थ्य विभाग एवं परिवार कल्याण कार्यालय में निर्देशक डॉ. तारा आर्य का घेराव कर धरना प्रदर्शन किया। पश्चात ग्रामीणों के शिष्टमंडल ने स्वास्थ्य निदेशक स्वास्थ्य विभाग एवं परिवार कल्याण कुमाऊं मंडल नैनीताल को पत्र भी सौंपा। पत्र में उन्होंने अवगत कराया की विकासखंड ओखलकांडा के ग्राम डालकन्या में निवासी ललित बुगियाल की पत्नी गर्भवती थी, जिसका ईलाज के आभाव में बीती 29 नवंबर को वहां पर मौजूद पीएचसी में प्रसव के दौरान जच्चा-बच्चा दोनों की ही मौत हो गई। मृतका के पति ललित बुगियाल जो स्वयं दिव्यांग है, जिनका एसटीएच में इलाज चल रहा है,जो आर्थिक रूप से कमजोर है।
जिस पर उन्होंने पीडि़त परिवार को पांच लाख की आर्थिक सहायता उपलब्ध करवाने व डाल कन्या में मौजूद स्वास्थ्य केन्द्र की स्वास्थ्य व्यवस्था में तुरंत सुधार करवाने की मांग की है, कहा यदि जल्द ही अस्पताल की व्यवस्थाओं में सुधार नहीं किया जाता है तो सभी आंदोलन को बाध्य होंगे। उन्होंने बताया की अस्पताल में स्वास्थ्य सुविधाओं का अभाव है अभाव के चलते लगभग दो दर्जन ग्रामों की जनता जूझ रही हैं, जिसपर उन्होंने ग्रामीणों की सुविधा के लिए जल्द से जल्द स्वास्थ्य सुविधाओं में सुधार करने की मांग की हैं। इस मौके पर अध्यक्ष एवं पूर्व प्रधान संयक्त संघर्ष समिति मोहन सिंह चौहान, मदन गोनिया, ईश्वर दत्त परगाई ,हरेंद्र बिष्ट, जगदीश मेहता, दीपक मेवाड़ी व सूरज रावत सहित अन्य ग्रामीण मौजूद थे।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_img

ताजा खबरें