Saturday, March 2, 2024
No menu items!
spot_imgspot_imgspot_imgspot_img
Homeउधम सिंह नगरसौरभ बहुगुणा हत्या की साजिश मामले में एएसपी एसटीएफ की अध्यक्षता वाली...

सौरभ बहुगुणा हत्या की साजिश मामले में एएसपी एसटीएफ की अध्यक्षता वाली SIT जांच में जुटी

13 अक्टूबर,रुद्रपुर /संवाददाता तापस विश्वास

प्रदेश के कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा की हत्या की साजिश रचे जाने के बाद गिरफ्तार हुए सभी आरोपियों से पूछताछ की जा रही है पूछताछ में जो खुलासे हो रहे हैं उसके मुताबिक अगर यह सभी आरोपी अपने मकसद में कामयाब हो जाते तो कैबिनेट मंत्री के साथ बहुत बड़ी घटना घट सकती थी। सूत्रों के मुताबिक आरोपियों ने इस पूरे काम के लिए रेकी भी कर ली थी. कैबिनेट मंत्री सौरभ बहुगुणा केस मामले को गंभीरता से लेते हुए अब मुख्यमंत्री के आदेश पर इस पूरे मामले की जांच एसआईटी को दे दी गई है। अब इस मामले की जांच एएसपी एसटीएस की अध्यक्षता में गठि टीम करेगी। एसटीएफ एडिशनल एसपी स्वप्निल किशोर के नेतृत्व में एक सर्किल ऑफिसर, चार इंस्पेक्टर एसआईटी की टीम में शामिल हैं। एसआईटी टीम में सितारगंज कोतवाल भारत सिंह, एसओजी प्रभारी विजेंद्र शाह, एसआई विकास चौधरी और एसआई भुवन चंद्र जोशी, एसआई विनोद फर्त्याल, सिडकुल सितारगंज चौकी प्रभारी चंदन बिष्ट, कांस्टेबल पंकज बिनवाल, राजेंद्र कुमार, कपिल कुमार, बलवंत सिंह और नरेंद्र यादव को शामिल किया गया है।

ADG लॉ एंड ऑर्डर डॉ वी मुरुगेशन के अनुसार मामला बेहद संवेदनशील है यही वजह हैं शासन के आदेश पर SIT गठित की गई है। हालांकि पहले से संबंधित जिले एक टीम गठित हैं लेकिन इस प्रकरण के हर पहलुओं की जांच-पड़ताल बिना किसी दबाव के हो इसको लेकर शासन आदेश पर जो 6 सदस्यों की SIT बनी है. उसको स्थानीय टीम में मर्ज कर प्रभावी तौर पर अग्रिम कार्यवाही होगी। कल हुई कैबिनेट बैठक में यह मुद्दा कई मंत्रियों ने उठाया इसे राज्य के लिए और राज्य के नेताओं के लिए बेहद गंभीर बताते हुए चर्चा की गई। जिसके बाद मुख्यमंत्री ने पुलिस मुख्यालय को यह आदेश दिए कि इस पूरे मामले पर एसआईटी गठित करके जांच की जाए जो भी इस मामले में शामिल हैं उसको गिरफ्तार करके कड़ी से कड़ी सजा दी जाए। एसआईटी तमाम आरोपियों से पूछताछ में यह खुलासा करवाने की भी कोशिश करेगी कि आखिरकार हत्या की साजिश रचने का उनका पूरा मकसद क्या था? बता दें इस मामले में उधम सिंह नगर पुलिस ने साजिशकर्ता हीरा सिंह समेत चार लोगों को गिरफ्तार किया है बकायदा मंत्री की हत्या के लिए ₹20 लाख की सुपारी भी दी गई थी. मंत्री की हत्या के लिए जो प्लान तैयार हुआ था वह सड़क मार्ग का था यानी कभी भी सौरभ अगर सड़क मार्ग से जाते तो गाड़ी को टक्कर मारकर उनको हानि पहुंचाने का पूरा प्लान तैयार कर लिया गया था।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें