Sunday, July 14, 2024
No menu items!
Google search engine
Homeअपराधनकल माफियाओं की करोड़ों की संपत्ति होगी जब्त

नकल माफियाओं की करोड़ों की संपत्ति होगी जब्त

उत्तराखंड अधीनस्थ सेवा चयन आयोग ( UKSSSC) पेपर लीक मामले मे एसटीएफ नकल माफियाओं की संपत्ति का आंकलन कर लिया है। यूकेएसएसएससी पेपर लीक गिरोह के दो और सदस्यों की संपत्ति का आंकलन पूरा कर लिया गया है। इनमें कुमाऊं के चंदन सिंह मनराल की करीब साढ़े दस करोड़ संपत्ति को जब्त किया जाएगा। साथ ही उसकी समस्त चल अचल सम्पत्ति के अलावा परिजनों के बैंक खातों को भी फ्रिज कर दिया गया है। वहीं, मुख्य आरोपी हाकम सिंह का खास गुर्गा अंकित रमोला की संपत्ति का भी ब्यौरा जुटा लिया गया है। वह करीब 40 लाख रुपये की संपत्ति का मालिक है। उसकी संपत्ति की जब्ती की रिपोर्ट भी एसटीएफ ने तैयार कर ली है। इसके साथ ही एसटीएफ ने अंकित रमोला के बैंक अकाउंट के 15 लाख रुपये भी होल्ड कराए।

वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ आयुष अग्रवाल ने बताया कि यूकेएसएसएससी पेपर लीक मामले में एसटीएफ द्वारा इस गिरोह के 24 सदस्यों के विरूद्ध गैंगस्टर एक्ट में विवेचना की जा रही है, जिसमें अभियुक्तों की चल अचल सम्पत्ति को भी गैंगस्टर एक्ट के अन्तर्गत सीज करने की कार्यवाही भी की जा रही है। अभी तक इस गैंग के सदस्य हाकम सिंह की संपत्ति का आंकलन कर जब्तिकरण की कार्यवाही हेतु जिलाधिकारी देहरादून को प्रेषित की गई थी,जहां पर कार्यवाही प्रचलित है। अब एसटीएफ द्वारा इस गैंग के दो अन्य सदस्यों चंदन सिंह मनराल और अंकित रमोला की भी सम्पत्ति का आंकलन पूरा कर लिया गया है। जिसकी विस्तृत रिपोर्ट तैयार करते हुए जिलाधिकारी देहरादून को जब्तीकरण हेतु प्रेषित की गई है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक ने कहा कि गैंगस्टर अधिनियम की धारा-14 के तहत अभियुक्त गणों की अवैध संपत्ति को जिलाधिकारी द्वारा जब्त किये जाने का प्रावधान है। इसी क्रम में आज एसटीएफ की विवेचना टीम के द्वारा चंदन सिंह मनराल पुत्र स्व झगड सिंह निवासी रामनगर, नैनीताल एवं अंकित रमोला पुत्र दीपक रमोला निवासी ग्राम सुनहरा पोस्ट ऑफिस नौगांव तहसील बड़कोट थाना पुरोला जिला उत्तरकाशी के विरूद्ध अवैध सम्पत्ति की जॉच करने पर पाया कि चन्दन मनराल द्वारा वर्ष 2015 से अब तक परिक्षाओं की धांधली से लगभग 10,27,16,508/-रूपये(दस करोड़ सताइश लाख,सोलह हजार पांच सौ आठ रुपए) की अवैध संपत्ति अर्जित की गई है। अवैध आय से चन्दन मनराल द्वारा अपने व अपने परिजनों के नाम पर 21 छोटे बडे वाहनों की खरीद फरोख्त की गई । जिसमें 16 टैक्सी–ट्रेवलर वाहन, 01 जेसीबी, 01 स्कॉरपियो, 03 दुपहियां वाहन शामिल हैं । इसके अतिरिक्त रामनगर के आस-पास अचल सम्पत्ति एवं एक स्टोन क्रेशर भी परीक्षा दलाली के धंधे से खरीदा जाना प्रकाश में आया है। चन्दन मनराल एवं उसके परिजनों के विभिन्न बैंकों में 03 सितंबर 2022 तक जमा धनराशि को भी होल्ड कराया गया है।

इस गिरोह के दूसरे सदस्य अंकित रमोला जो कि हाकम सिंह का खास गुर्गा है, की संपत्ति की जांच करने में पाया की उसके द्वारा भी इस परीक्षा दलाली में 40,00000/-रूपये (चालीस लाख रूपए) की अवैध सम्पत्ति जुटाई गई है। जिसमें से उसके द्वारा ग्राम विणंगघेरा, तल्ला पुरोला उत्तरकाशी में 03 अचल सम्पत्तियां क्रय की गई है। इसके अलावा विभिन्न बैंकों में अंकित रमोला के नाम पर जमा धनराशि लगभग 15,00000/-रूपये पाई गई हैं। जिनको भी फ्रिज कराया गया है। परीक्षा धांधली गैंग के इन दोनो सदस्यों की संपत्ति की जब्तीकरण हेतु रिपोर्ट जिलाधिकारी, देहरादून को प्रेषित की जा चुकी है। इससे पूर्व हाकम सिंह की सम्पत्ति के जब्तीकरण का मामला माननीय जिला मजिस्ट्रेट न्यायालय में विचाराधीन है। वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ द्वारा बताया गया कि इस गैंग के हर सदस्य के विरुद्ध कठोर वैधानिक कार्यवाही सुनिश्चित किए जाने के लिए एसटीएफ द्वारा हर पहलू पर गहनता से विवेचना की जा रही हैं और न्यायालयों में प्रभावी पैरवी भी की जा रही है। शेष आरोपियों की चल–अचल सम्पत्ति का भी आंकलन कर शीघ्र जब्तीकरण की कार्यवाही की जायेगी। इसके अलावा वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक एसटीएफ द्वारा अपील की गई है की कोई भी व्यक्ति अगर इस परीक्षा गिरोह के किसी भी सदस्य की संपत्ति के बारे में जानकारी रखता हो तो उसकी सूचना एसटीएफ को किसी भी माध्यम से भेज सकता है। उसका नाम पता गोपनीय रखा जायेगा।

सम्बंधित खबरें
- Advertisment -spot_imgspot_imgspot_imgspot_img

ताजा खबरें